चेन्नई

सेवाकर चोरी करने वालों को सख्त चेतावनी देते हुए वित्त मंत्री पी. चिदंबरम ने शनिवार को कहा कि आर्थिक घपलेबाजी करने वालों के बारे में सरकार के पास पर्याप्त जानकारी है और ऐसे लोगों के खिलाफ गिरफ्तारी सहित सख्त कदम उठाए जाएंगे।

चिदंबरम ने कहा, ‘‘सरकार को एक सख्त संदेश देना है कि इस तरह का उल्लंघन करने वाले लोग बचकर नहीं निकल सकते। इसलिए, हमने उन्हें गिरफ्तार किया है।’’ उन्होंने कहा कि देशभर में सेवाकर की कथित चोरी मामले में हाल ही में 10 लोगों को गिरफ्तार किया गया।

वित्त मंत्री आज यहां व्यापार एवं उद्योग, सेवा संघों और वाणिज्य एवं उद्योग मंडलों के साथ सेवाकर अनुपालन पर बजट में घोषित स्वैच्छिक अनुपालन प्रोत्साहन योजना (वीसीईएस) पर आयोजित परिचर्चा बैठक में बोल रहे थे।

उन्होंने कहा कि सरकार अब सलाहकार सेवाओं, सूचना प्रौद्योगिकी और रीएल एस्टेट जैसे उन सेवा क्षेत्रों पर ‘पैनी नजर’ रखेगी जिनमें लंबे समय से सेवाकर चोरी की आशंका बनी रही है।

वित्त मंत्री ने कहा कि उन्होंने चेन्नई जैसे विभिन्न शहरों में अनुबंध सेवा, रखरखाव व मरम्मत सेवा एवं सलाहकार सेवाओं, आईटी, रीयल एस्टेट, खनन, परिवहन, विज्ञापन, भंडारण, मानवशक्ति, भर्ती एवं सुरक्षा सेवाओं जैसे क्षेत्रों में लंबे समय से सेवाकर चोरी को नोटिस किया है।

उन्होंने कहा कि वह मानते हैं कि यह पूरे देश में हो रहा है। ऐसा विश्वास करने की कोई वजह नहीं है कि यदि एक क्षेत्र कोलकाता में कर भुगतान नहीं कर रहा है तो वही क्षेत्र चेन्नई में नियमों का अधिक अनुपालन कर रहा होगा। (एजेंसी)
 

Source ¦¦ agency