नई दिल्ली । रेलिगेयर एंटरप्राइजेज के पूर्व प्रमुख सुनील गोधवानी को गुरुवार को विदेश जाते समय दिल्ली एयरपोर्ट पर रोक लिया गया। गोधवानी से आर्थिक अपराध शाखा पूछताछ कर रही है। संभावना है कि गोधवानी को हिरासत में लिया जा सकता है।  इमिग्रेशन अथॉरिटीज ने बताया कि गोधवानी अमेरिका रवाना होने वाले थे। सूत्रों ने बताया कि सीरियस फ्रॉड इनवेस्टिगेशन ऑफिस (एसएफआईओ) ने गोधवानी के खिलाफ लुक आउट सर्कुलर जारी करने की मांग की थी।
दिसंबर 2018 में रेलिगेयर एंटरप्राइजेज और उसकी सब्सिडियरी रेलिगेयर फिन्वेस्ट लिमिटेड ने गोधवानी और तत्कालीन प्रमोटरों मलविंदर सिंह और शिविंदर सिंह के खिलाफ कंपनीज एक्ट के प्रावधानों के तहत कंपनी मामलों के मंत्रालय के पास एक शिकायत दी थी। शिकायत में कहा गया था कि आरएफएल ने सिंह ब्रदर्स की करीबी कंपनियों को लोन मंजूर किए थे, लेकिन वे कर्ज कभी नहीं चुकाए गए। 19 इकाइयों को 2397 करोड़ रुपये का लोन दिया गया था। इसमें 415 करोड़ रुपये का ब्याज शामिल है। गोधवानी के करीबी एक शख्स ने इस बात की पुष्टि की है कि उन्हें विदेश नहीं जाने दिया गया। पिछले सप्ताह जेट एयरवेज के फाउंडर नरेश गोयल और उनकी पत्नी को विदेश जाते समय मुंबई एयरपोर्ट पर इमिग्रेशन अधिकारियों ने रोक लिया था। बताया जाता है कि गोयल दंपती दुबई होकर लंदन जाने वाले थे। मुंबई से वे एमिरेट्स की फ्लाइट में सवार होने वाले थे, जो दुबई जा रही थी।