नई दिल्ली । गर्मी की तपिश मैदानी इलाकों में लू बनकर लोगों की परेशानी बढ़ा रही है। दिल्ली एनसीआर में जहां तापमान 45 के पार चला गया है। वहीं, उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में 48 और ग्वालियर में 71 साल का रिकॉर्ड तोड़ते हुए 47.5 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया है। झारखंड के दुमका में भीषण गर्मी से एक व्यक्ति की मौत हो गई है। 
हरियाणा के हिसार में तो पारा 46 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया है। यह हाल सिर्फ मैदानों में ही नहीं है पहाड़ों पर भी लोगों के पसीने छूट रहे हैं। उत्तराखंड में पारा 40 डिग्री पहुंचा। उत्तराखंड के पहाड़ी इलाके उत्तरकाशी में पारा 37 डिग्री सेल्सियस को पार कर गया है, जबकि अल्मोड़ा में यह 35.3 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। मौसम विभाग ने चेतावनी जारी की है कि आने वाले दो से तीन दिन पारा और चढ़ सकता है। हालांकि एक जून की शाम को उत्तरकाशी, चमोली, रुद्रप्रयाग और पिथौरागढ़ में कुछ स्थानों पर हल्की बारिश की संभावना भी है। इसके अलावा हरिद्वार, कोटद्वार, ऊधमसिंह नगर और रुड़की में यह पारा 40 डिग्री सेल्सियस के करीब पहुंच चुका है।
राजस्थान की ओर से चली उत्तर-पश्चिमी हवाओं ने गुरुवार को ग्वालियर-चंबल और मप्र के बुंदेलखंड क्षेत्र को झुलसा कर रख दिया। नौतपा के छठे दिन खजुराहो में पारा 47.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। वहीं, ग्वालियर में भी पारा 47.2 डिग्री से. दर्ज किया गया है। मौसम के जानकारों के अनुसार 71 साल बाद ग्वालियर में इतना तापमान दर्ज किया गया है। इससे पहले 30 मई 1947 को ग्वालियर का तापमान 48.3 डिग्री से. दर्ज किया गया था।
इस समय न सिर्फ उत्तर भारत में वरन देश के ज्यादातर इलाकों में भयंकर गर्मी पड़ रही है। इसका असर जम्मू जैसे ठंडे राज्यों में भी दिखाई देने लगा है। यहां बुधवार को पारा 42 डिग्री से ज्यादा था, जो कि गुरुवार को 44 डिग्री के करीब पहुंच गया। ऐसे में प्री मानसून बारिश नहीं होने से लोग दिनभर लू में झुलसने को मजबूर हैं। 
झारखंड स्थित सरैयाहाट के रक्सा गांव के पास 50 वर्षीय एक व्यक्ति की लू लगने से मौत हो गई। दोपहर में यहां का तापमान 40 डि‌र्ग्री सेल्सियस से अधिक था। डॉक्टर ने भी लू से मौत की पुष्टि की है। पंजाब में गुरुवार को एक बार फिर बंठिडा सबसे गर्म रहा। बठिंडा में तापमान 46.1 डिग्री पहुंच गया है। मौसम विभाग के अनुसार अलगे दो तीन दिनों में तापमान 47 डिग्री सेल्सियस को पार कर सकता है। इसके अलावा फिरोजपुर में भी अधिकतम तापमान 44.2 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। वहीं लुधियाना में 44.5, अमृतसर में 44.1, जालंधर में 43.9, पठानकोट 44 व पटियाला में 44.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।