इन्दौर । संभागायुक्त श्री आकाश त्रिपाठी ने आज इंदौर विकास प्राधिकरण के कार्यों की समीक्षा की। उन्होंने प्राधिकरण द्वारा प्रस्तावित मेजर रोड्स के निर्माण में  बेहतर प्लानिंग से कार्य करने के निर्देश दिए। बैठक में प्राधिकरण के सीईओ श्री विवेक श्रोत्रिय, मुख्य अभियन्ता श्री एसएस राठौर सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।
बैठक में बताया गया कि सुपर कॉरिडोर में आईएसबीटी के निर्माण के लिए टेंडर हो गया है। सितंबर, 2019 तक कार्य प्रारंभ करने का लक्ष्य रखा गया है। यहाँ पर प्रतिदिन 1200 बस चल सकेंगी। आईएसबीटी  8.67 हेक्टेयर भूमि पर 48 करोड़ रुपये की लागत से प्रस्तावित है।
बैठक में मुंडला नायता में प्रस्तावित बस टर्मिनल पर भी चर्चा हुई। यहाँ पर प्रतिदिन 600 बसों के आने जाने की क्षमता वाला टर्मिनल बनाया जाना प्रस्तावित है। विजय नगर में प्रस्तावित बस टर्मिनल पर भी चर्चा हुई। योजना क्रमांक 54 में यह बस टर्मिनल बनाया जाना है, इसके लिए लगभग दस एकड़ भूमि उपलब्ध कराई गई है।
स्कीम नंबर 176 में विकास कार्यों पर भी बैठक में चर्चा की गई। सीईओ श्री श्रोत्रिय ने बताया कि यहाँ 6 जून के बाद अनुबंध कर्ता किसानों और भूखंड धारकों से लेआउट पर चर्चा की जाएगी। इसके बाद टेंडर जारी करने की प्रक्रिया की जाएगी। स्कीम नंबर 172 में भी विकास योजना पर चर्चा की गई। चार जून को प्रस्तावित बोर्ड मीटिंग के बाद वर्क ऑर्डर जारी करने के निर्देश दिए गए। बैठक में स्कीम नंबर 169  के लेआउट प्लान के बारे में भी अवगत कराया गया।
बैठक में श्री श्रोत्रिय ने बताया कि स्कीम नम्बर 166 में 87 परसेंट भूमि प्राप्त हो गई है। एल.आई.जी. लिंक रोड का काम पूरा होने जा रहा है। इससे एबी रोड और रिंग रोड की सीधी कनेक्टिविटी हो जाएगी।
बैठक में पीपल्या हाना के फ्लाईओवर निर्माण की प्रगति की समीक्षा की गई। यह फ्लाईओवर 750 मीटर लंबा है। जो 40 करोड़ रुपये की लागत से बनाया जा रहा है। संभागायुक्त श्री त्रिपाठी के गत निरीक्षण के बाद यहाँ पानी और हाई टेंशन लाइन शिफ्टिंग की बाधा दूर हो गई है। साथ ही लेफ़्ट हैंड साइड में 12 पेड़ काटने की अनुमति भी प्राप्त कर ली गई है।संभागायुक्त श्री त्रिपाठी ने निर्देश दिए कि कार्य प्रगति की साप्ताहिक निगरानी रखें और कार्य पूरी गुणवत्ता और गति के साथ संपादित कराए।
बैठक में बताया गया कि आनंदवन सेकेंड फ़ेज़ स्कीम 140 में निर्माणाधीन है। 140 करोड़ रुपये की लागत से यहाँ 233 फ्लेट बनाए जा रहे हैं। दिसंबर 2019 तक पूर्ण करने का लक्ष्य रखा गया है। निर्माण के बाद यह इन्दौर का सबसे शानदार आवासीय परिसर बनेगा।
स्कीम नंबर 94 में निर्माणाधीन अंतरराष्ट्रीय स्विमिंग पुल के प्रथम फेज को सितंबर 2019 तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। यह पाँच एकड़ भूमि में बन रहा है। प्रथम फ़ेज़ की लागत 12 करोड़ रूपये और द्वितीय फेज की लागत 11 करोड़ होगी।
स्कीम नंबर 94 में निर्माणाधीन शहीद पार्क का कार्य जून 2019 तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया। प्रथम फेज में 2 करोड़ 18 लाख रुपये की लागत से बनने वाले इस पार्क के संचालन, संधारण और रख रखाव के बारे में योजना बनाने के निर्देश संभागायुक्त द्वारा दिए गए। उन्होंने कहा कि भोपाल के शौर्य पार्क की तरह इसके संचालन संधारण की योजना बनाये।
बैठक में लोहा मंडी शिफ्टिंग की भी समीक्षा की गई। बताया गया कि अब तक कुल 331 भू-खण्ड पर क़ब्ज़ा दिया जा चुका है। बैठक में विकास प्राधिकरण द्वारा प्रस्तावित सभी मेजर रोड्स की भी समीक्षा की गई।