ग्वालियर। नगर निगम द्वारा शहर के नालों की सफाई का काम जारी है। रविवार को कलेक्टर अनुराग चौधरी नालों की सफाई का जायजा लेने पहुँचे। वार्ड नं.-52 के अंतर्गत गुढ़ा पुलिया से एसएएफ 14-बटालियन के अंदर होते हुए मैस्कॉट हॉस्पिटल के पीछे से होते हुए गोमती की फड़ी से स्वर्ण रेखा नदी तक जाने वाले नाले की सफाई की जा रही है। उन्होंने यहाँ पहुँचकर नगर निगम के अधिकारियों के साथ सफाई व्यवस्था देखी और नगर निगम को जल्द काम पूरा करने के निर्देश दिए हैं। भ्रमण के दौरान नगर निगम आयुक्त संदीप माकिन, अपर आयुक्त नरोत्तम भार्गव सहित नगर निगम के अन्य अधिकारी भी मौजूद थे। 
कलेक्टर अनुराग चौधरी ने कहा है कि नालों की तत्काल सफाई करें और जहां कहीं अतिक्रमण है तो उसे हटाएं। उन्होंने मुरैना रोड़ वाले नाले, ठाठीपुर सुरेश नगर और शब्दप्रताप आश्रम के पास वाले नाले की स्थिति का भी जायजा लिया। शब्दप्रताप आश्रम के पास लगभग डेढ़ किलोमीटर लम्बा नाला है। इसकी गहराई भी अच्छी है। इसमें शहर के काफी बड़े भाग का बारिश का पानी जाता है। इस नाले को साफ कराने के निर्देश दिए हैं। ठाठीपुर सुरेश नगर क्षेत्र में भी लगभग डेढ़-दो किलोमीटर लम्बाई का बड़ा नाला है। जिस पर काफी अतिक्रमण है। अतिक्रमण के कारण नाले का एरिया बहुत कम हो गया है। नगर निगम के अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि पूरी टीम लगाकर काम करें और नालों की सफाई करें। अतिक्रमण हटाने के लिए सख्ती से कार्रवाई करें। 
शहर में कई बड़े नाले हैं। बरसात के समय में पानी की निकासी होती है। परंतु अधिकांश नालों पर अतिक्रमण के कारण उनका एरिया कम हो गया है। यह उस क्षेत्र के रहवासियों के लिए भी बड़ी समस्या है। बारिश के समय पानी नालों में जाता है। परंतु अतिक्रमण व कचरे के कारण पानी की सही ढ़ंग से निकासी नहीं हो पाती है। यह पूरे शहर में अव्यवस्था का कारण बनता है। कलेक्टर अनुराग चौधरी ने स्पष्ट निर्देश दिए हैं कि बरसात से पहले नालों की सफाई करें और अतिक्रमण हटाएं।