ग्वालियर  कॉन्फेडरशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) द्वारा मुद्रा लोन षिविर के माध्यम से रोजगार के अवसर उपलब्घ कराने का अनूठा प्रयास किया जा रहा है। क्योंकि जो स्वरोजगार स्थापित करेगा उसे तो रोजागार मिलेगा ही साथ ही जो लोग अपने चलते हुये व्यापार को आगे बढ़ा रहे हंैं और उसके लिये तरूण योजना के अन्तर्गत १० लाख रूपये तक का लोन ले रहे हैं वह भी अपने व्यापार को बढायेंगे और व्यापार को बढाते समय उन्हें नये कर्मचारियों की आवष्यक्ता होगी, उनके यहां भी रोजगार के अवसर बढेंगे। यह बात मुद्रा लोन षिविर का उदघाटन करते हुये भारतीय स्टेट बैंक के सेवानिवृत मुख्य प्रबन्धक श्री आर.वी.षर्मा ने कही। षिविर की अध्यक्षता कैट ग्वालियर के अध्यक्ष रवि गुप्ता ने की। उन्होंने कहा कि कैट ग्वालियर छोटे छोटे कारोवारियों के हितों को दृष्टिगत रखते हुये सक्रियता से कार्य करेगा। 
    मध्यप्रदेष कैट के अध्यक्ष भूपेन्द्र जैन की विषेष उपस्थिति में आयोजित षिविर के उदघाटन समारोह में श्री जैन ने कहा कि मुद्रा लोन के माध्यम से हम जरूरतमंद करोवारियों को साहूकारों के अधिकतम ब्याज पर ऋण लेने एवं षोषण होने से वचायेंगे। जो लोग वास्तविकता में कार्य करना चाहते हैं अथवा अपने कारोबार को आगे बढाना चाहते हैं ऐसे लागों के लिए कैट सदैव तत्पर है और जिन बैंकों से हमने बात की है उन बैकों ने भी विशेश रूप से इस योजना का लाभ उठाने के लिये अपनी सहमति दी है।
    षिविर में विशेश अतिथि के रूप में श्री दलजीत सिंह बैंक आफ इंडिया, अजय सिंघल स्टटेट बैंक आफ इडिया के सेवानिवृत अधिकारी उपस्थित थे जबकि जिला उद्योग केन्द्र के पूर्व महाप्रबन्धक एम.एल.अटल और कन्सलटेंट आर.के.चैपडा भी उपस्थित थे। षिविर का उदघाटन करते हुये अतिथियों ने दीप प्रज्वलित किया।  कैट ग्वालियर के कोर्डिनेटर दीपक पमनानी, मनोज चैरसिया गोविन्दराय सिंह, विपुल गुप्ता, संजय रत्न पारखे आदि ने अतिाथियों का पुश्पहार से स्वगात किया।  
    २५ मई के षिविर में २० आवेदकों का साक्षत्कार हुआ जबकि २० मई से २४ मई तक २८० से अधिक आवेदन प्राप्त हुये हैं। ३१ मई तक इनके साक्षात्कार पूरे होंगे और बैंक में लगने वाले डाक्यूमेंट पूरे कराये जायेंगे और जो पात्र आवेदक होंगे उन्हें ऋण दिये जाने हेतु कैट द्वारा रिकमंड कर बैंक में प्रस्तुत किया जायेंगा।