लोकसभा चुनाव में भोपाल संसदीय सीट से मालेगांव मामले की आरोपी साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को बतौर पार्टी उम्मीदवार मैदान में उतारने को लेकर राजनीतिक गलियारा ही नहीं बल्कि बॉलीवुड भी मुखर हुआ है। यही नहीं प्रज्ञा ठाकुर द्वारा हेमंत करकरे पर दिए गए विवादित बयान से अनेक लोग आहत भी हैं और अपना गुस्सा भी जाहिर कर रहे हैं। ऐसे में मशहूर कोरियोग्राफर, फिल्म निर्देशक एवं प्रोड्यूसर फराह खान का कहना है कि 'अभी तक मैंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को 'चोर' या 'चौकीदार' नहीं कहा, लेकिन साध्वी प्रज्ञा को भाजपा उम्मीदवार बनाने और उनका समर्थन करने के बाद प्रधानमंत्री ने मेरे लिए तो अपना पूरा सम्मान ही खो दिया है।' इसी के साथ ट्वीट करते हुए फराह ने कहा है कि 'आंतक जैसे गंभीर मामले की संदिग्ध को चुनाव मैदान में बतौर पार्टी उम्मीदवार उतारना घिनौना है। यह ठीक नहीं है।' वैसे आपको बतला दें कि हेमंत करकरे के संबंध में प्रज्ञा ने जो कहा उसे लेकर अनेक लोगों ने नाराजगी जाहिर की है, जिसे देखते हुए भाजपा ने इस बयान को उनका व्यक्तिगत बयान करार दिया और इसी के साथ साध्वी प्रज्ञा ने भी अपने शब्द वापस लेने जैसी बात कह दी, लेकिन इससे क्या, क्योंकि अधिंकाश लोग तो इस बात को लेकर नाराज हैं कि एक गंभीर अपराध के आरोपी को पार्टी यूं अपना प्रतिनिधि कैसे बना सकती है। फराह सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहती हैं, इसलिए यह संदेश भी देखते ही देखते आग की तरह फैल गया और इस पर प्रतिक्रियाएं भी आनी शुरु हो गईं।